Thursday, March 18, 2010

betiya

बेटे की जगह जन्म लेती हं बेटियां।



कोमल, सहज व सहृदय होती हैं बेटियां॥


अब बेटे से कहीं कम नहीं है बेटियां।


हर घर का सम्मान है बेटियां॥


देश दुनिया में हर जगह पहचान है बेटियां।


स्वर्णिम दिशा में उडऩे का अरमान है बेटियां॥


न रोके इन्हें कोई, न लगाएं इनपे बेडिय़ां।


क्योंकि अब देश का स्वाभिमान हैं बेटियां॥