Monday, March 29, 2010

betiya


"घणी पियारी लागे है माँ-बाप ने बेटिया|

सुख -दुख में साथ देवे है बेटिया ||

कीयू याने दुख देवो , ये तो नव दुर्गा रो रूप है बेटिया |

देवी रो अससीस है, जो थारे घर जनम लियो ||

माँ रो आशीर्वाद बेटिया ||

इस्सा घणा भाग जो देवी पधारी आपरे आघने ||

धरती रो सिंगार है बेटिया||

माँ-बापू रो अभिमान है बेटिया ||"